पीएम मित्र से घरेलू व विदेशी निवेश होगा आकर्षित

पीएम मित्र से घरेलू व विदेशी निवेश होगा आकर्षित
सात मेगा टेक्सटाइल व एपरल पार्क 
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के 5-एफ विजन को ध्यान में रखते हुए सात पीएम मेगा इंटीग्रेटेड टेक्सटाइल रीजन एंड अपैरल (पीएम मित्र) पार्क बनाए जाएंगे।जिसे केद्रीय ने 6 सितम्बर 2021 को मंजूरी दे दी।जिन्हें विकसित करने के लिए केद्र सरकार 4,445 करोड़ रुपए की सहायता देगी।एक पार्क का निर्माण 1000 एकड़ में किया जाएगा।ऐसे में पीएम मित्र से घरेलू व विदेशी निवेश आकर्षित होगा और वैश्विक प्रतिस्पर्धी बनाने में मदद मिलेगी।
दरअसल सात मेगा टेक्सटाइल व अपैरल पार्क के निर्माण के लिए इच्छुक राज्यों से आवेदन करने को कहा गया है।जिसके तहत जो राज्य मुफ्त में जमीन के साथ सबसे अधिक सुविधाओं की पेशकश करेंगे वहां इन पार्को का निर्माण किया जाएगा।ऐसे में जिन 10 राज्यों ने अपने यहां टेक्सटाइल व अपैरल पार्क निर्माण के लिए दिलचस्पी दिखाई है जिसमें तमिलनाडु, पंजाब, उड़ीसा, आन्ध्र प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और असम सम्मिलित हैं । वैसे तो देश में 66 टेक्सटाइल पार्क पहले से ही हैं ।जिनमें से 56 पार्क़ों में मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट लग चुकी है।वहीं 10 पार्क निर्माणाधीन है।ऐसे में प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के 5-एफ विजन में फार्म,फाइबर,फैक्ट्री,फैशन और फॉरेन सम्मिलित है।इससे यह स्पष्ट होता है कि इन टेक्सटाइल व अपैरल पार्क से किसान से लेकर निर्यातक को लाभ मिलेगा।ऐसे में इस विजन को आगे बढाने को लेकर यह फैसला किया गया है।इस फैसले के बारे में प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने ट्वीट करके कहा कि इन टेक्सटाइल व अपैरल पार्क की स्थापना से न सिर्फ रोजगार में बढोतरी होगी बल्कि लॉजिस्टिक्स की लागत में कमी आएगी।वहीं केद्रीय कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि एक पार्क के निर्माण के लिए केद्र सरकार की तरफ से अधिकतम 500 करोड़ रुपए दिए जाएंगे।यह पार्क निर्माण की लागत का 30 प्रतिशत होगा।ग्रीनफील्ड पार्क यानी पूरी तरह से नए पार्क के लिए 500 करोड़ रुपए की अधिकतम राशि है वहीं ब्राउनफील्क पार्क यानी पहले से मौजूद के लिए अधिकतम राशि 200 करोड़ रुपए होगी।वहीं केद्रीय कपड़ा सचिव उपेद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि राज्यों से आवेदन मांगने का काम शुरु हो गया है।इनके चयन में तीन से चार महीने लग सकते हैं ।
इस बाबत वस्त्र निर्यात संवर्धन परिषद (एईपीसी) के अध्यक्ष ए.शक्तिवेल ने कहा कि देश में सात मेगा इंटीग्रेटेड टेक्सटाइल रीजनएंड अपैरल (मित्रा) पार्क की स्थापना से कपड़ा क्षेत्र में घरेलू और विदेशी निवेश को आकर्षित करने और वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाने में मदद मिलेगी।उन।ाzंने कहा कि मित्रा भारत के कपड़ा उद्योग में पुन: वैश्विक नेतृत्व की स्थिति हासिल करने में मदद करेगा।उन्होंने कहा कि यह कपड़ा क्षेत्र में भारी पैमाने पर घरेलू व विदेशी निवेश का आकर्षित करेगा जिससे लाषों नौकरियां पैदा करने में मदद मिलेगी।उन्होंने कहा कि इन कदमों से कपड़ा निर्यात को बढावा देने और अगले कुछ वर्ष़ों में इस क्षेत्र से 100 अरब डॉलर से अधिक तक ले जाने में सहायक सिद्व होगा।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer