डेस मटेरियल्स और किड्सवेयर में अच्छी मांग

हमारे संवाददाता
इंदौर । सफेद कुर्ते छ पाजामे का  चलन आजकल सभी जाति वर्ग की खास पंसंदीदा हो जाने से भारी खरीदी और मांग बढती जा रही है । सेंचुरी की चिकन का एंबायडरी युक्त कुर्ते और पाजामे हेतु फाईन क्वालिटी हरक की अच्छी मांग बढती जा रही है ।  सर्दी हो या  गर्मी  में  युवाओं के साथ साथ बडे लोगो का भी रूझान सफेद लिनन ~ एवं सूती पर अधिक है । थोक मंडी से ली गई डीलर्स एवं  उच्च व्यापारीयो  ली गई जानकारी के अनुसार  इंदौर के आसपास के शहर के अलावा   निमाडी व्यापारियों की  सूती एवं सिंथेटिक सूटिंग शटिंग, सूरत की प्रिमियम टाईप साडियां, डेस मटेरियल , और मर्दाना धोतियां तथा कीड्स वियर की भारी मांग हुई है इस लिहाज से  उधर ग्राहकी अच्छी  होने की संभावना को बताया जा रहा है।इंदौर स्थित माल संस्कृति और अन्य शो रूम्स में लेडिज बुटिक , के अलावा देश भर के लेडिज बुटिक की मांग में श्रुति कलेक्शन अपनी भारी  गाहकी लगातार बनाऐ हुए है ।  केंदीय सरकार द्वारा कपडा और रेडिमेड गार्मेट के निर्यात में कई सहयोगो से उत्पादको को राहत है । स्थानीय रेडिमेड गार्म़ेंट निर्यातक व्यापारी-उद्यमियों के अनुसार आने वाले वर्षो में  कारोबार को अच्छी गति तो मिल सकेगी ऐसी उम्मीद है ।  व्यापारियो ने आने वाली त्योहारी ग्राहकी की म.तु. क्लॉथ मार्केट में बीता पूरा हप्ता अच्छी खरीदी का बीता है । बाजार में जेंटस् ग्रहकी की अपेक्षाकृत लेडिज गाहकी भरी रहती है कामोबेश यही हाल युवा केटेगिरी का बडे शो-रूम्स और माल संस्कृति में स्थित ब्रांड कपनियो में अच्छी खरीदी का चल रहा है । सूटिगं-शर्टिंग  और रेडिमेंड गार्म़ेंटस् में कंपनियो की स्कीम के अलावा कई डीलर-व्यापारी अपनी ओर से भी गाहको को लुभाने वाली स्कीम परोस रहे है ।  
इंदौर के तैयार वस्त्रों के निर्माताओं में अच्छी स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होने से तैयार वस्त्रों के उत्पादन तथा ट्रेडीगं मे हमेशा आगे बने रहे है । लगभग सभी रेडिमड वस्त्र निर्माता अपने आर्डर उत्पादन मे लगे हुए है साथ ही नई सेंपंलिग की तैयारी मे भी लगे है । यही कारण है कि इंदौर तैयार वस्त्रों का एक बडा केंद्र बनता हा रहा है । नई अत्याधुनिक फैशन मेकर मशीनो द्वारा वस्त्रो का निर्माण किया जा रहा है । रेडिमेड गार्म़ेंट निर्माताओ द्वारा प्रत्येक विशेष क्षैत्र के लिये पहनावा,वहॉ की जलवायु,डिजाईन व रंगो को ध्यान मे रखते हुए उत्पादन कर रहे है । सभी प्रकार के क्वालिटी कपडे का प्रयोग उत्पादन मे हो रहा है जिनका वाजिब दाम यहां पर लगाया जाता है । मेसं टी-शर्ट, कुर्ता-पायजामा, मेंस टाउजर्स , वेडिंग शेरवानी तथा जींस,लेडिज वेस्टर्न टॉप,एंब्रायडरी साडी,सलवार सूट्स,लेडिज जींस,गर्ल्स टॉप,गर्ल्स केप्री,बॉयज शर्टस और जींस,बाबा सूट्स आदि का उत्पादन यहां हो रहा है ।  कपडा उत्पादन के क्षैत्र मे भारत का इतिहास हमेशा से ही उन्नतशील  देशो के बराबर रहा है और घरेलु आवश्यकताओं की पूर्ति करते हुए हमेशा कपडा निर्यात मे भी सदैव बना रहा । अंतर्राष्टिय स्तर पर जैसे जैसे कपडे की गुणवत्ता बढती जा रही है वैसे वैसे भारत  कपडे मे  विकसीत टेक्नालॉजी के माध्यम से अपना विकास करता जा रहा है , यहॉ तक की अब तैयार वस्त्रो की भी अंतर्राष्टिय स्तर निर्माण कर निर्यात मे हिस्सेदारी बढाता जा रहा है । नये युवा उद्यमियो के अच्छे प्रयास से अगले कुछ वर्षो मे भारत का शुमार एक अच्छे निर्यातक देश के रूप मे होने लगने की संभावनाए है ।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer