पाम, सोयाबीन और सूर्यमुखी के तेल की किस्मों पर कस्टम डय़ूटी घटी

नई दिल्ली । त्योहारी मौसम में खाद्य तेलों कीमतों को कम करने के लिए केद्र सरकार ने एक अहम फैसला किया है।जिसके तहत केद्र सरकार ने पाम,सोयाबीन और सूर्यमुखी के तेल की कच्ची किस्मों पर 31 मार्च 2022 तक के लिए कृषि उपकर और कस्टम ड्यूटी में कटौती की है।
दरअसल केद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआइसी) ने एक अधिसूचना में कहा कि शुल्क में कटाती 14 अक्टूबर से प्रभावी हो गई है।ऐसे में केद्र सरकार के इस कदम से त्योहारी मौसम में खाद्य तलों की कीमतों को कम करने और घरेलू उपलब्धता को बढाने में मदद मिलेगी।वहीं कृषि उपकर की बात करें तो यह कच्चे पाम तेल पर अब 7.5 प्रतिश्zंात लगेगा। वहीं कच्चे सोयाबीन तेल और कच्चे सूर्यमुखी तेल के लिए इसकी दर पांच प्रतिशत होगी।पाम,सोयाबीन और सूर्यमुखी के तेल की कच्ची किस्मों पर प्रभावी कस्टम डय़ूटी क्रमश: 8.25,5.5 और 5.5 होगी।इसके अतिरिक्त सूर्यमुखी,सोयाबीन,पामोलीन और पाम तेल की परिष्कृत किस्मों पर मूल सीमा शुल्क मौजूदा 32.5 प्रतिशत से घटाकर 17.5 प्रतिशत कर दिया गया है।चूंकि खाद्य तेलों की कीमत पर लगाम लगाने और घरेलू आपूर्ति बढाने के लिए केद्र सरकार ने खाद्य तेलों पर आयात शुल्क कम किया है।इसके अतिरिक्त जमाखोरी के खिलाफ  भी कदम उठाए गए हैं ।वहीं सितम्ब्र में खाद्य तेलों का आयात 63 प्रतिशत बढकर 16.98 लाख टन हो गया जो कि सबसे अधिक आयात पाम तेल का किया गया।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer