रिलायंस का जर्मनी की नेक्सवेफ में 2.5 करोड़ यूरो का निवेश

डेनमार्क की स्टीसडल के साथ रणनीतिक साझेदारी
नई दिल्ली । रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (आरएनईएसएल) ने महत्वपूर्ण साझेदारियों की घोषणा की है।जिसको लेकर आरएनईएसएल ने कहा कि वह जर्मनी की नेक्सवेफ में 2.5 करोड़ यूरो का निवेश करेगी।इसके साथ ही कंपनी ने डेनमार्क की स्टीसडल के साथ रणनीतिक साझेदारी का भी ऐलान किया।रिलायंस की तरफ से कहा गया है कि नेक्सवेफ में निवश भारतीय बाजार के लिए रणनीतिक साझेदारीके तहत किया गया है।
दरअसल आरएनईएसएल ने अपने बयान में कहा कि वह नेक्सवेफ के 86,887 सीरीज-सी प्रेफर्ड शेयर 287.73 यूरो प्रति शेयर के हिसाब से खरीदेगी।इसके अतिरिक्त आरएनईएसएल को एक यूरो के हिसाब से 36,201 वारंट भी जारी किए जाएंगे। नेक्सवेप सेमीकंडक्टर में इस्तेमाल होने वाले मोनोक्रिस्टलाइन सिलिकॉन वेफर्स बनाती है।सेमींडक्टर सभी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में लगाए जाते हैं ।इस सौदे को लेकर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा कि रिलायंस हमेशा से प्रौद्योगिकियों के क्षेत्र में आगे रहने में विश्वास करती रही है।नेक्सवेफ के साथ हमारी साझेदारी एक बार फिर इस बात की गवाही देती है कि हम भारत की तेजी से बढती अर्थव्यवस्था के लिए सस्ती हरित ऊर्जा की जरुरतों को पूरा करने के लिए एक महत्वाकांक्षी मिशन की शुरुआत कर हे हैं ।उन्होंने कहा क नेक्सवेफ में हमारा निवेश भारत को फोटोवोल्टिक निर्मालि में वैश्विक लीडर के तौर पर स्थापित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।हमें विश्वास है कि नेक्सवेफ का अभिनव अल्ट्रा-थिन वेफर,सोलर पैनल निर्माताओं और उपभोक्ताओं को लाभ पहुंचाएगा।रिलायंस के लिए सौर और अन्य प्रकार की नवीनीकरणीय ऊर्जाओं में हमारा दखल एक व्यवसायिक अवसर से कहीं अधिक बड़ा है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer