बिजली संयंत्रों में कोयले की आपूर्ति बढ़ी

आपूर्ति बढ़कर 20 लाख टन के पार 
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । देश में ताप विद्युत संयंत्रों को कोयला की आपूर्ति को लेकर उभर रही दिक्कत के बीच केद्रीय कोयला मंत्री प्रहृलाद जोशी ने कहा कि ताप बिजली संयंत्रों को कोयले की आपूर्ति 12 अक्टूबर 2021 को सामूहिक रुप से 20 लाख टन को पार कर गई है।उन्होंने दावा किया कि बिजलीघरों को कोयले की आपूर्ति बढाई गई है।उन्होंने खुद छतीसगढ व झारखंड के दौरे पर गए थे और कोयला खदानों से आपूर्ति को लेकर जमीनी समीक्षा की है।
दरअसल देश के विभिन्न बिजली संयंत्र इस समय कोयले की कमी से जूझ रहे हैं ।जिसके चलते अभी संकट बढा तो नहीं है लेकिन दिक्कत महसूस की जा रही है।इसीबीच केद्रीय कोयला मंत्री प्रहृलाद जोशी ने 13 अक्टूबर 2021 को ट्वीट कर साफ किया कि उन्हें यह बात साझा करते हुए खुशी हो रही है कि सभी स्त्रोतों से ताप बिजली घरों को कोयले की आपूर्ति 12 अक्टूबर 2021 को 20 लाख टन से अधिक हो गई है।हम बिजली संयंत्रों में कोयले का पर्याप्त भंडार सुनिश्चित करने के लिए कोयले की आपूर्ति बढा रहे हैं ।वहीं कोल इंडिया के अधिकारी की तरफ से कहा गया है कि पिछले दिनों बिजली स्टेशनों को कोयले की आपूर्ति पहले ही 16.2 लाख टन को पार कर गई है।वहीं कोयले का कुल उठाव 18.8 लाख टन हो गया है।वहीं इसका वार्षिक औसत 17.5 लाख टन है।इससे पहले केद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने 12 अक्टूबर को कहा था कि केद्र सरकद्रार बिजली उत्पादकों की मांग को पूरा करने का भरपूर प्रयास कर रही है।कोयले की आपूर्ति को बढाकर 20 लाख टन प्रतिदिन किया जाएगा जो कि अभी 19.5लाख टन है।श्री जोशी कोयला उत्पादक राज्य छतीसगढ और झारखंड के दौरे पर थे जहां पर कोयला उत्पादन की समीक्षा की।वहीं बिलासपुर पहुंच गए और जिसके बाद रांची जाएंगे।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer