एमएसएमई को रु.एक करोड़ लोन देने का रास्ता साफ

एमएसएमई को रु.एक करोड़ लोन देने का रास्ता साफ
महिला उद्यमियों की इकाई को कर्ज देने में दी जाएगी प्राथमिकता
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । सूक्ष्म,लघु व मध्यम उद्यम (एमएसएमई) को वित्तीय सहयोग देने के लिए सिडबी और गूगल इंडिया ने हाथ मिलाया है। जिसके तहत गूगल इंडिया ने लोन प्रोग्राम के तहत 110 करोड़ रुपए का कॉपर्स फंड रखा है।जिसके तहत गूगल के साथ सिडबी मिलकर छोटे उद्योगों को कर्ज मुहैया कराएगा।जिसके तहत महिला उद्यमियों की इकाइयों को कर्ज देने में प्राथमिकता दी जाएगी।
इस मौके पर सिडबी बøक के वरिष्ठ प्रबध निदेशक एस रम्मन ने कहा कि सिडबी उन एमएसएमई को लोन मुहैया कराएगी जिनका टर्नओवर 5 करोड़ रुपए तक है।जिसके तहत कपंनियों को 25 लाख रुपए से लेकर एक करोड़ रुपए तक का लोन मिलेगा।इस साझेदारी में महिला उद्यमियों द्वारा चलाई जा रही इकाइयों को कर्ज देने में प्राथमिकता दी जाएगी।जिसका ब्याज भी कम दर पर होगा।उन्होंने कहा कि एमएसएमई देश की अर्थव्यवस्था की लाइफलाइन है और ग्रोथ में मदद करते हø।जिसको लेकर सिडबी ने इस वर्ष अप्रैल में घटी ब्याज दरों वाले दो उत्पाद तैयार किए थे ताकि एमएसएमई को कोरोना महामारी का मुकाबला करने के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीमीटर जैसे अन्य जरुरी सामानों की आपूर्ति बढाने में सक्षम बनाया जा सके।जिसको लेकर सिडबी की तरफ से कहा गया था कि इन योजनाओं के तहत की गई वित्तीय सहायता के तहत कोरोना महामारी के दौरान एमसएमई द्वारा ऑक्सीजन सिलेडर,ऑक्सीजन कंसंट्रेटर,ऑक्सीमीटर और जरुरी दवाओं की आपूर्ति बढाने में मदद मिलेगी।जिसको लेकर सिडबी ने तेजी से कर्ज देने के लिए दो उत्पादों की घोषणा की गई थी।जिनमें प्रथम श्वांस यानी कोरोना महामारी की दूसरी लहर के खिलाफ युद्वस्तर पर स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र को सिडबी की सहायता था।वहीं दूसरा उत्पाद आरोग्य यानी एमएसएमई की भरपाई और सामान्य वृद्वि की सिडबी की सहायता) था।यह योजना केद्र सरकार के मार्गदर्शन में तैयार की गई थी।इनका मकसद ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर,ऑक्सीमीटर और आवश्यक दवाओं की आपूर्ति से संबंधित उत्पादन और सेवाओं के लिए वित्त पोषण मुहैया कराना था।इन योजनाओं में सभी दस्तावेजों या सूचनाओं के मिलने के 48 घंटे के भीतर 4.5 प्रतिशत प्रति वर्ष की आकर्षक ब्यार दर पर दो करोड़ रुपए की रकम एमएसएमई इकाइयों को दी जा सकती है।   

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer